क्या आप जानते हो Wifi मॉडेम में इतने एंटीना किस लिए होते हैं?…

क्या आप जानते हो Wifi मॉडेम में इतने एंटीना किस लिए होते हैं?…

वाईफाई मॉडम अलग-अलग एंटीने के साथ आता है. किसी में एक एंटीना  होता है तो किसी में दो. अब 3 एंटीने वाले भी वाइफाई मॉडम उपलब्ध हैं. कभी सोचा है कि एंटीने की संख्या घटने या बढ़ने से इसके काम पर क्या असर पड़ता है. इसे समझने के लिए पहले यह जानना जरूरी है कि वाईफाई मॉडम आखिर काम कैसे करता है.

वाई-फाई मॉडम में तीन मुख्य चीजे होती हैं, नेटवर्क पोर्ट, एंटीना और सीपीयू. इसमें सबसे अहम काम होता है एंटीने का. मॉडम का एंटीना ही वाईफाई नेटवर्क की रेंज को बढ़ाने का काम करता है. आसान भाषा में समझें तो मॉडम से मिलने वाले सिग्नल को एंटीना ही रिसीव करता और वायरलेस तरीके यूजर की डिवाइस तक इंटरनेट पहुंचाता है.

अगर मॉडम में एंटीना नहीं होगा तो मॉडम या राउटर से मिलने वाले वाईफाई की रेंज बहुत सीमित हो जाएगी. घर के अलग-अलग हिस्से में कनेक्टिविटी कम-ज्यादा होगी. इसलिए परफेक्ट सिग्नल के लिए एंटीने का लगा होना बेहद जरूरी है. यह तो हुई एंटीने की खूबी, अब समझते हैं इनकी संख्या घटने या बढ़ने से क्या असर पड़ता है.

नेटवर्क फ्रॉम होम की रिपोर्ट के मुताबिक, मॉडम या राउटर में ज्यादा एंटीने होने का मतलब है ज्यादा बेहतर परफॉर्मेंस. यानी ज्यादा बेहतर नेटवर्क कवरेज मिलना. वर्तमान में 2 या 3 एंटीने वाले मॉडम का इस्तेमाल ज्यादा किया जा रहा है. ऐसा इसलिए भी है ताकि वाईफाई की रेंज में मोटी दीवारें या ऐसी कोई बाधा होने पर इसकी परफॉर्मेँस पर असर न पड़े.

एंटीने की संख्या के आधार पर इनमें कैसे अंतर किया जा सकता है, अब इसे समझते हैं. सिंगल एंटीने का मतलब है यह केवल 2.4GHz फ्रीक्वेंसी वाले बैंड का इस्तेमाल करके डिवाइस को कनेक्ट कर सकता है. दो एंटीने का मतलब यह 2.4GHz और 5 GHz फ्रीक्वेंसी दोनों तरह के बैंड को कनेक्ट कर सकते हैं. इसी तरह 3 एंटीने वाले मॉडम को और भी बेहतर माना जाता है.

देखे विडियो:

नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल)

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. timepass अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]


time pass

Leave a Reply

Your email address will not be published.