मुकेश अंबानी की बेशुमार दौलत के पीछे का राज़!

मुकेश अंबानी की बेशुमार दौलत के पीछे का राज़!

भारत में हर कोई अंबानी परिवार जैसा जीवन चाहता है। हर कोई इंतजार कर रहा है कि कब उनकी किस्मत खुलेगी और वो एक मुकाम हासिल करेंगे। कई लोग कहते हैं कि मुकेश अंबानी को ये दौलत विरासत में मिली है। लेकिन ये आधा सच है मुकेश अंबानी को अपने पिता धीरूभाई अंबानी से कुछ मिला है, तो वो है सक्सेस के मूलमंत्र। धीरूभाई अंबानी ने अपने दोनों बेटों अनिल अंबानी और मुकेश अंबानी के साथ मिलकर अपने सपनों को साकार किया था। आज मुकेश अंबानी 62 साल के हो गए हैं। ऐसे में हम आपको उनकी कुछ दिल्चस्प बातें बताने जा रहे हैं।

इस कदम ने बदली थी अंबानी की किस्मत
धीरूभाई अंबानी जब गुजरात से मुंबई आए थे, तो उनके पास केवल 500 रुपये थे। 500 रुपये और अपनी समझ से वो अरबपति बने। साल 1966 में अंबानी ने नारौदा में अपनी पहली टेक्सटाइल मिल की स्थापना की थी। इसी मिल ने अंबानी की किस्मत बदल दी थी। महज एक साल और दो महीनों में अंबानी ने 10,000 टन पॉलिस्टर यार्न स्थापित करने में विश्व रिकॉर्ड बनाया था। इस यार्न के बाद धीरूभाई अंबानी ने विमल नाम से अपना खुद का ब्रांड लांच किया। 1976 में धीरूभाई अंबानी की जो कंपनी 70 करोड़ रुपये की थी, वो साल 2002 में 75,000 करोड़ की हो गई। रिलायंस ऐसा करने वाली पहली भारतीय डिजिटल कंपनी बनी।

पिता के कहने पर मुकेश अंबानी को छोड़नी पड़ी थी पढ़ाई
केमिकल इंजीनियरिंग में बीई की डिग्री प्राप्त करने के बाद मुकेश अंबानी स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से एमबीए करना चाहते थे। लेकिन उनके पिता धीरूभाई अंबानी ने उनकी पढ़ाई बीच में रोक दी और उनको अपने साथ काम करने के लिए बुलाया। इसके बाद साल 1981 में मुकेश ने अपने पिता के साथ मिलकर रिलायंस पेट्रोलियम रसायन की शुरूआत की। बाद में मुकेश ने रिलायंस इंफोकॉम लिमिटेड, जिसे अभी रिलायस कम्युनिकेशंस लिमिटेड के नाम से जाना जाता है, उसकी स्थापना की।

50 अरब डॉलर की संपत्ति के हैं मालिक
इसके बाद अंबानी के कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और वो बढ़ते गए। 500 रुपये से शुरुआत करने वाले अंबानी के पास आज करीब 50 अरब डॉलर की संपत्ति है। मुकेश अंबानी का मानना है कि बड़े सपने ही बड़ी सफलता दिलाते हैं। अंबानी कहते हैं कि ऊंचे ख्वाब देखो और उनके पूरे होने तक उम्मीद ना छोड़ो।

देखे विडियो :

नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल)

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. timepass अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

time pass

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *